Some of the functionalities will not work if javascript off. Please enable Javascript for it.

About us

सेवा उपनियम

प्रारंभिक

प्रस्तावित संशोधन

1. लघु शीर्षक एवं प्रभावीकरण

  1. यह उपनियम नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय के संशोधित (सेवा) उपनियम कहलाएंगे।
  2. यह 29 अगस्त 2003 से लागू समझे जाएंगे।

2. प्रोज्यता (लागूता)

  1. ये उपनियम सोसाइटी के प्रत्येक कार्मिक पर लागू होंगे।
  2. खंड (1) के किसी बात के होते हुए भी कार्यकारी परिषद् कार्मिक के साथ उसकी नौकरी की शर्तों के संदर्भ में अनुबंध द्वारा ऐसे विशेष प्रावधान कर सकती है जिसे वह आवश्यक समझे और ऐसे मामले में ये उपनियम वहां लागू नहीं होंगे जहां उक्त प्रावधानों के साथ विरोधाभास हो।

परिभाषा

इन उपनियमों में जब तक कि संदर्भ से अन्यथा अपेक्षित न हो।

  1. सोसाइटी में किसी भी पद के संबंध में ‘‘नियुक्ति प्राधिकारी’’ से तात्पर्य उस प्राधिकारी से है जो इन उपनियमों के तहत किसी पद पर नियुक्ति करने के लिए सक्षम है;
  2. ‘उधार पर लिए गए ‘कार्मिक’ अर्थात-प्रतिनियुक्त कार्मिक से अभिप्राय किसी भी प्राधिकरण के उस कार्मिक से है जिसकी सेवाएं सोसाइटी द्वारा उधार पर ली जाए;
  3. ‘कार्मिक’ से तात्पर्य उस व्यक्ति से है जो प्रथम अनुसूची में उल्लेखित पदों में से किसी भी पद पर सोसाइटी के लिए सेवारत्त हैं;
  4. ‘विदेश सेवा’ से तात्पर्य ऐसी सेवा से है जिसमें नियुक्ति प्राधिकारी के अनुमोदन पर कार्मिक को वेतन सोसाइटी की निधियों में से न देकर अन्य किसी भी स्रोत से दिया जाए;
  5. ‘वेतन’ से तात्पर्य, मूलभूत/अनुपूरक नियमों में निर्धारित वेतन से है;
  6. ‘‘संस्वीकृति प्राधिकारी’’ से अभिप्राय
    1. ‘ख’,‘ग’ ‘घ’ समूह के पदों के संदर्भ में निदेशक
    2. ‘क’ समूह के पदों के संदर्भ में अध्यक्ष कार्यकारी परिषद् बशर्ते कि शोध अधिकारी के ऊपर के पदों के संदर्भ में नियुक्ति संस्कृति मंत्रालय के अनुमोदन पर की जाए;
  7. ‘अनुसूची’ से अभिप्राय इन उपनियमों की अनुसूची से है
  8. ‘चयन समिति’ का अर्थ है: इन उपनियमों के अनुसार एक या एक से अधिक व्यक्ति के चयन के लिए समिति;
  9. ‘सोसाइटी’ से तात्पर्य है, ‘नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय समिति;
  10. ‘कार्यकारिणी परिषद्’ का तात्पर्य है, नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय समिति की कार्यकारी परिषद्;
  11. ‘अध्यक्ष से तात्पर्य है कार्यकारी परिषद् अध्यक्ष;
  12. ‘निदेशक’ से तात्पर्य है समिति का निदेशक;
  13. ‘उपनिदेशक’ से तात्पर्य है (संयुक्त निदेशक के पदनाम के लिए प्रस्तावित) समिति का उपनिदेशक (संयुक्त निदेशक);
  14. ‘प्रशासनिक अधिकारी’ से तात्पर्य समिति का प्रशासनिक अधिकारी है;

3.यहां प्रयुक्त सभी शब्द एवं अभिव्यक्तियां जिनकी व्याख्या इन उपनियमों में नहीं की गई है किंतु सोसाइटी के नियम एवं विनियमों में परिभाषित है, का क्रमशः वही अर्थ होगा जो उक्त नियमों एवं विनियमों में है।

Photo Collections
Event Photographs

News

Back to Top